परीक्षा में अच्छे अंक लाने के लिये छात्र-छात्राओं को निरंतर प्रोत्साहित करें प्राचार्य – कमिश्नर

0
8

कमिश्नर शहडोल संभाग श्री रजनीश श्रीवास्तव ने शहडोल संभाग के शासकीय एवं अशासकीय स्कूलों के प्राचार्यों से कहा है कि वे कक्षा 10 वीं और 12 वीं की कक्षाओ में अच्छे अंक लाने के लिये छात्र-छात्राओं को निरंतर प्रोत्साहित करें। कमिश्नर ने कहा है कि शैक्षणिक दृष्टि से कमजोर छात्र-छात्राओं पर प्राचार्यों और शिक्षकों का फोकस होना चाहिए तथा सर्वाधिक ध्यान शैक्षणिकतौर से कमजोर छात्रों पर होना चाहिए। कमिश्नर ने निर्देशित करते हुये कहा है कि सभी प्राचार्य और शिक्षक छात्र-छात्राओं से प्रतिदिन चर्चा करें तथा छात्र-छात्राओं की शिक्षण संबंधी समस्याओं को हल कर छात्र-छात्राओ को परीक्षा में अच्छे अंक लाने के लिये प्रेरित करें। कमिश्नर शहडोल संभाग श्री रजनीश श्रीवास्तव आज कमिश्नर कार्यालय में आयोजित शहडोल संभाग के शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयो के प्राचार्यों की बैठक में प्राचार्यो को संबोधित कर रहे थे। कमिश्नर ने कहा कि छात्र-छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ-साथ राईटिंग सुधारने के लिये भी प्रेरित करें एवं राईटिंग सुधारने के गुर सिखायें। कमिश्नर ने निर्देशित किया है कि बच्चों को परीक्षा की छोटी-छोटी बारीकियों की जानकारी देना भी सुनिश्चित करें। शहडोल संभाग का हर शासकीय एवं अशासकीय विद्यालय यह लक्ष्य लेकर चले कि उसके विद्यालय के अधिक से अधिक छात्र कक्षा 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षा में अधिक से अधिक अंक लाकर टॉप-10 में जगह बनायें। कमिश्नर ने निर्देश दिये हैं कि सभी प्राचार्य एवं शिक्षक बच्चों को शिक्षा ग्रहण करने के लिये उत्साहवर्द्धन करें, शिक्षक छात्र-छात्राओं को हतोत्साहित न करें। कमिश्नर ने निर्देश दिये हैं कि छात्र-छात्राओं को गणित, फिजिक्स, केमेस्ट्री, अंग्रेजी, सोशल साईंस, हिन्दी विषयों को भी प्राथमिकता के साथ पढ़ायें तथा छात्र-छात्राओं का उक्त विषयों में मार्गदर्शन करें। उन्होने कहा कि छात्र-छात्राओं का शिक्षण के लिये एक-एक दिन महत्वपूर्ण है। कमिश्नर ने निर्देश दिये हैं कि परीक्षा को दृष्टिगत रखते हुये छात्र-छात्राओं से एक-एक दिवस का सदुपयोग करायें। बैठक में उपायुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग श्री जगदीश सरवटे, सहायक आयुक्त श्री नरोत्तम वरकड़े एवं शहडोल संभाग के शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों के प्राचार्यगण उपस्थित थे।