गुजरात, हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए तारीखों का ऐलान आज शाम 4 बजे संभव

0
14

नई दिल्ली: गुजरात और हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनावों के लिए गुरुवार यानी आज शाम 4 बजे चुनाव आयोग ऐलान करेगा. हालांकि चुनाव आयोग द्वारा चुनावी बिगुल बजने से काफी पहले से इन दोनों राज्यों में चुनावी हलचलें तेज हो चुकी हैं. वैसे दोनों ही राज्यों में कांग्रेस और बीजेपी के बीच ही मुख्य मुकाबला होने जा रहा है.

हिमाचल प्रदेश में नवंबर में एक चरण में चुनाव की संभावना…
वैसे हिमाचल प्रदेश में नवंबर में एक चरण में चुनाव संभव माना जा रहा है. पिछली बार 4 नवंबर को चुनाव हुआ था और 20 दिसंबर को नतीजा आया था. हिमाचल प्रदेश में कुल 68 विधानसभा सीटें हैं. यहां पिछली बार कांग्रेस ने 36 सीटें जीती थीं. यहां बीजेपी की हार हुई थी और उसे 26 सीटें ही मिली थीं. बीजेपी ने प्रेम कुमार धूमल की अगुवाई में चुनाव लड़ा था. यहां से वीरभद्र सिंह छह बार मुख्यमंत्री रहे हैं.

गुजरात में 1998 से बीजेपी लगातार सत्ता में
वहीं, गुजरात विधानसभा के लिए पिछली बार 13 और 17 दिसंबर को चुनाव हुआ था और 20 दिसंबर को नतीजे आए थे. गुजरात में बीजेपी का परचम लहराया था. उसे 182 में से 116 सीटें मिली थीं. गुजरात में 48 फीसदी वोट बीजेपी को नरेंद्र मोदी की अगुवाई में मिले थे. दरअसल गुजरात बीजेपी का गढ़ माना जाता है. यहां 1998 से बीजेपी लगातार सत्ता में है.

गुजरात में दिसंबर में विधानसभा चुनाव के संकेत..
वैसे बता दें कि चुनाव आयोग संकेत पहले ही दे चुका है कि गुजरात में दिसंबर में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं, क्योंकि वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल जनवरी के तीसरे सप्ताह में पूरा होने वाला है. मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) एके जोति ने कहा कि गुजरात में 50 हजार से अधिक मतदान केंद्रों पर मतदाता मतदान सत्यापन पर्ची (वीवीपीएटी) प्रणाली का प्रयोग होगा. इस प्रणाली का पहली बार इस्तेमाल इस साल गोवा चुनावों में किया गया था.

उन्होंने कहा कि सभी 182 सीटों के एक-एक बूथ पर मतदान सत्यापन पर्ची की गणना की जाएगी, ताकि पर्चियों की संख्या और डाले गए मतों का आपस में मिलान किया जा सके. पहली बार चुनाव आयोग गुजरात के सभी विधानसभा क्षेत्रों में सर्वमहिला मतदान केंद्र शुरू करेगा.